स्लिप डिस्क की समस्या Problem of Slip Disc

स्लिप डिस्क की समस्या(Problem of Slip Disc) में रीढ़ की हड्डि केअॉपरेशन के बाद दोबारा शुरू होने वाले दर्द को फेल्ड बैक सिंड्रोम कहते हैं, लेकिन ऐसे मरीजों के लिए इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी ने उम्मीद का उजाला बिखेर दिया है। आपने सुना होगा की कई बार लोग कहते हैं, कि उन्हें स्लिप डिस्क की Problem है। या डिस्क खिसक गई है, जिससे उनके पीठ या कमर में दर्द बना रहता है। हमारी रीढ़ की हड्डि छोटे-छोटे मनकों से बनी होती है। हर दो मनकों के बीच डिस्क होती है। जो कि झटका सहने का काम करती है। जब हम कोई शारीरिक कार्य करते है, तो इसमे फैलाव आता है। और यही वजह है कि जब हम गलत तरीके से उठते या बैठते हैं तो इसमें अधिक जोर पडने के कारण इसमें दर्द उत्पन्न हो जाता है। और हम इसे ही कहते हैं स्लिप डिस्क रीढ़ की हड्डि के अॉपरेशन के बाद भी लगातार दर्द बना रहे या फिर बढ़ जाए तो इस स्थिति को फेल्ड बैक सिंड्रोम कहते हैं।slip disk

Failed Back Syndrome फेल्ड बैक सिंड्रोम के कारण

  • रीढ़ की हड्डि को अॉपरेशन के बाद होने वाले इंफेक्शन।
  • नसों का चिपकना ( एडहीसिव एरकनॉइडइटिस )।
  • फेसेट ज्वाइंट आर्थोसिस ( रीढ़ की हड्डि के बीच में स्थित जोड़ों में सूजन या इनफ्लेमेशन )।
  • अॉपरेशन के बाद बनने वाले धब्बे ( स्कार ) से नसों पर दबाव।

Radiology Treatment

रेडियोलॉजी के कई नवीनतम तकनीकों की मदद से फेल्ड बैक सिंड्रोम में आराम मिल सकता है। जैसे- रेडियो फ्रीक्वेंशी एब्लेशन अॉफ फेसेट ज्वाइंट: इस विधि का उपयोग फेसेट ज्वाइंट अॉर्थोसिस में किया जाता है। यह विधि फेसेट ज्वाइंट अॉर्थोसिस का स्थायी उपचार है। विधि में फेसेट ज्वाइंट की अन्दर की नस को रेडियो फ्रीक्वेंसी विधि से जला दिया जाता है और मरीज को फेसेट ज्वाइंट अॉर्थोसिस नामक समस्या के कारण होने वाले दर्द से छुटकारा मिल जाता है। आम तौर पर फेसेट ज्वाइंट अॉर्थोसिस के मरीजों को दर्द निवारक दवाएं और फिजियोथेरेपी की सलाह दी जाती है। इस तरह से मरीजों को दर्द निवारक दवाओं और उनसे होने वाले दुष्परिणामों के बचाया जा सकता है।

ओजोन न्यूक्लियोप्लास्टी

सीटी गाइडेड ओजोन न्यूक्लियोप्लास्टी के अंतर्गत एक विशेष प्रकार के इंजेक्शन द्वारा ओजोन गैस के जरिए डिक्स के केंद्रीय तरल पदार्थ को सुखा देते हैं। इसके परिणामस्वरूप डिस्क सिकुड़कर अपने स्थान पर आ जाती है और नसों से दबाव हट जाता है। ओजोन न्यूक्लियोप्लास्टी के द्वारा अॉपरेशन के बाद दोबारा होने वाली स्लिप डिस्क की समस्या में आराम मिल सकता है।

एपीडयूरल स्टेरॉइड इंजेक्शन

इस उपचार विधि से एडहीसिव एरकनॉइडाइटिस नामक मर्ज में आराम मिलता है।

तो दोस्तों कैसी लगी स्लिप डिस्क की समस्या  हमारी यह जानकारी, आशा करता हूँ कि आपलोगों को काफी पसंद आई होगी। अगर आपको इससे सम्बन्धित या अन्य कोई जानकारी चाहिए तो नीचे दिए गए Comment Box के माध्यम से सूचना दे सकते है। धन्यवाद

इसे भी जरूर पढ़े- Ghutno ke dard ka ilaj घुटनों के दर्द को कैसे ठीक करें

इसे भी जरूर पढ़े- खांसी कैसे ठीक करें खांसी ठीक करने के घरेलू उपाय हिन्दी में

इसे भी जरूर पढ़े- सिर दर्द ठीक कैसे करें सिर दर्द ठीक करने के घरेलू उपाय Head Pain Treatment Tips In Hindi

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!