लक्ष्मी जी की आरती PDF (Lakshmi ji ki Aarti PDF Download)

Lakshmi Aarti Hindi Lyrics PDF, लक्ष्मी जी की आरती download, लक्ष्मी जी की आरती डाउनलोड mp3, लक्ष्मी माता की आरती डाउनलोड, लक्ष्मी माता की आरती mp3, लक्ष्मी जी की आरती वीडियो डाउनलोड, महालक्ष्मी जी की आरती, लक्ष्मी आरती डाउनलोड –नमस्कार दोस्तों आज हम आप लोगों के लिए Lakshmi Aarti Hindi Lyrics PDF में लेकर आए हैं जिसे आप नीचे दिए गए Download Button पर क्लिक करके आसानी से Download कर सकते हैं। आप लोग अपने घरों मे लक्ष्मी जी की आरती करते है और माता लक्ष्मी आप लोगों के ऊपर सदा कृपा बनाएं रहें। माना जाता है कि माता लक्ष्मी धन की भी देवी हैं तो आप लोग माता लक्ष्मी की पूजा करते है जिससे आपका घर धन धान्य से समृध्द रहे।

Lakshmi ji ki Aarti

Lakshmi Aarti Hindi Lyrics

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता।
तुमको निशिदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही जग-माता।
सूर्य-चन्द्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
दुर्गा रुप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता।
जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
तुम पाताल-निवासिनि, तुम ही शुभदाता।
कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी, भवनिधि की त्राता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
जिस घर में तुम रहतीं, सब सद्गुण आता।
सब सम्भव हो जाता, मन नहीं घबराता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता।
खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
शुभ-गुण मन्दिर सुन्दर, क्षीरोदधि-जाता।
रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥
महालक्ष्मीजी की आरती, जो कोई जन गाता।
उर आनन्द समाता, पाप उतर जाता॥
ॐ जय लक्ष्मी माता॥

Lakshmi Aarti English Lyrics

Om Jai Lakshmi Mata, Maiya jaya Laxmi Mata.
Tumko nishdin sevat, Har Vishnu Vidhata.
Om Jai Lakshmi Mata.
Uma Rma, Brahmani, Tum hi ho jag mata,
Surya Chandrama Dhyavat, Narad Rishi gata.
Om Jai Lakshmi Mata.
Durga roop niranjni, sukh sampati data,
Jo koyi Tumko dhyavat, ridhi-sidhi dhan pata.
Om Jai Lakshmi Mata.
Tum hi patal basanti, Tum hi shubh data,
Karm prabhav prakashini, bhav nidhi ki trata.
Om Jai Lakshmi Mata.
Jis gharme Tum rehti, sab sadgun aata,
Sab sambhav hojata, man nahi ghabrata.
Om Jai Lakshmi Mata.
Tum bin yaghya na hove, Vstar na koi pata
Khaan-paan ka vaibhav, sab Tumse aata.
Om Jai Lakshmi Mata.
Shubh gun mandir sundar, Ksheerodedhi jata,
Ratan chaturdash Tum bin, koyi nahi pata.
Om Jai Lakshmi Mata.
Shri Mahalakshmiji ki aarti, jo koyi nar gata,
Ur anand samata , paap utar jata.
Om Jai Lakshmi Mata.

Download Lakshmi Ji Aarti 

लक्ष्मी जी की आरती PDF download

Lakshmi ji ki Aarti PDF Download

तो दोस्तों कैसी लगी हमारी Lakshmi Aarti Hindi Lyrics PDF यह जानकारी आशा करता हूँ आप लोगो को काफी पसंद आई होगी तो आप लोग इस जानकारी को अपने मित्रों के साथ भी शेयर कर सकते हैं। अगर आपको इससे सम्बन्धित जानकारी या अन्य जानकारी चाहिए तो नीचे दिए गए Comment Box के माध्यम से सूचना दे सकते हैं।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!